Skin Pigmentation चेहरे की झाइयां मिटाने के उपाय कैसे हटाएं और पिगमेंटेशन क्रीम कैसे बनाए घर पर,घरेलू उपचार

हर महिला अपने आप में खूबसूरत होती है, चेहरे पर होने वाली झाइयां किसी की भी खूबसूरती को कम नहीं कर सकती। इसी वजह से झाइयों की वजह से परेशान नहीं होना चाहिए। अगर चेहरे पर बेहद ज्यादा झाइयां हो रही हैं और यह आत्मविश्वास को कम कर रहा है, तो बेहिचक चेहरे की झाइयां हटाने का तरीका व झाइयां हटाने के घरेलू उपाय को अपनाया जा सकता है। 


पिगमेंटेशन क्या होता है

पिगमेंटेशन या झाइयाँ त्वचा में मेलानिन के स्तर के बढ़ने से होता है। मेलानिन नामक तत्व मेलानासाइट्स से बनता है। मेलानिन वह घटक है जो त्वचा की ऊपरी परत पर मौजूद रहता है। इसका मुख्य काम सूर्य की तेज किरणों से आने वाली अल्ट्रा वॉयलेट किरणों से त्वचा की सुरक्षा करना है।
पिगमेंटेशन (रंजकता) त्वचा (Skin Pigmentation) पर पड़ने वाले काले धब्बों और कहीं-कहीं से त्वचा का रंग डार्क होने pigmentation पिगमेंटेशन को कहते हैं। इसे हाइपरपिगमेंटेशन भी कहा जाता है। किसी के चेहरे पर इसके निशान छोटे होते हैं,
प्रदूषण, हॉर्मोन्स में बदलाव आने के कारण, गर्भावस्था के बाद या फिर त्वचा की देखभाल नहीं करने पर झांइयां हो जाती है. झांइयां चेहरे की रंगत छीन सकती हैं




झाइयां क्यों पड़ती है?

  • धूप में ज्यादा रहना।
  • किसी तरह की चोट।
  • मेलानिन की मात्रा का अधिक होना।
  • हार्मोनल बदलाव।
  • नुवंशिक कारण।
  • फंगल संक्रमण।
  • गर्भावस्था।
बहुत ज्यादा तनाव में रहने से या तेज धूप में काम करने से भी झाइयां हो जाती है। -कई लोगों को थायरॉइड की बीमारी की वजह से भी ये निशान हो जाते हैं। चेहरे की झाइयां और काले घेरे दवा खाने से ठीक हो सकते हैं। अगर ये किसी खास बीमारी जैसे थायरोइड की वजह से बनने लगें तो उस बीमारी का इलाज करने पर ये भी ठीक हो जाएंगे।
प्रेग्‍नेंसी में सबसे बड़ी समस्‍या पिगमेंटेशन की होती है। मतलब शरीर के कुछ हिस्‍सों का रंग सांवला हो जाता है। खासकर चेहरा और गर्दन की त्‍वचा पर इसका ज्‍यादा असर दिखाई देता है। इसकी एक ही वजह है और वह है शरीर के हॉर्मोन्‍स का असर
चेहरे पर क्या लगाकर सोना चाहिए?
रात को सोने से पहले रोज़ना यह क्रीम लगाने से चेहरे पर निखार आता है। एक टेबलस्पून ऑलिव ऑयल और एक चम्मच बादाम का तेल मिलाकर इसे रोज़ाना चेहरे पर लगाएं। सोने से पहले हल्के हाथों से चेहरे पर मसाज करें, इससे झुर्रियां कम होती हैं और त्वचा मुलायम बनती हैं। निखरी त्वचा के लिए यह नाइट क्रीम बहुत उपयोगी है

पिगमेंटेशन /झाइयां हटाने के लिए घरेलू उपायHome Remedies For Pigmentation In Hindi
लेख में बताए गए किसी झाइयां हटाने के नुस्खे यानी उसमें मौजूद सामग्री से अगर एलर्जी हो, तो उसके इस्तेमाल से बचें। संवेदनशील त्वचा वाले लोग लेख में बताए गए झाइयां हटाने का तरीका इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं। इसके अलावा झाइयों का उपाय करते समय सामग्री को चेहरे पर लगाने से पहले त्वचा पर पैच टेस्ट कर सकते हैं।
पिगमेंटेशन कैसे हटाये

नींबू








एक चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच शहद और बादाम का तेल डालकर मिला लें। इससे लगभग 8–10 मिनट तक चेहरे की मालिश करें।
एक चम्मच नींबू का रस व शहद मिलाकर त्वचा पर लगाएँ। सूख जाने पर ठंडे पानी से धो लें।

सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर)




सेब का सिरका स्किन पिगमेंटेशन को ठीक करने में सहायक भूमिका निभा सकता है। इसमें मैलिक और लैक्टिक एसिड पाए जाते हैं। इन एसिड की वजह से सेब का सिरका त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने के साथ ही स्किन पर पड़ने वाले लाल धब्बों को दूर कर सकता है। इसके अलावा, सेब का सिरका त्वचा को मुलायम बनाने और पीएच को संतुलित रखने में मदद कर सकता है इसी वजह से माना जाता है कि सेब का सिरका त्वचा की झाइयों को भी कम करने का काम कर सकता है।

एलोवेरा





एलोवेरा में एलोसीन (Aloesin) नामक कंपाउंड होता है, जो स्किन लाइटनिंग का काम करता है माना जाता है कि यह गुण झाइयों के धब्बों को भी कम करने में मदद कर सकता है। साथ ही एलोवेरा में सूरज की यूवी किरणों से बचाने का गुण भी होता है । इसी वजह से माना जाता है कि झाइयों को दूर करने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल प्रभावी हो सकता है।

लाल प्याज


jkk

लाल प्याज (Allium Cepa) का इस्तेमाल भी झाइयों को कम करने के लिए किया जा सकता है। दरअसल, इसमें स्किन वाइटनिंग एजेंट पाए जाते हैं। एक शोध में इस बात का जिक्र भी किया गया है। शोध में बताया गया है कि लाल प्याज की सूखी त्वचा में व्हाइटनिंग गुण के साथ ही एंटी-टायरोसिनेस गतिविधि भी होती है, जो मेलानिन को बढ़ने से रोकती है। इसी वजह से झाइयों को कम करने के लिए लाल प्याज को प्रभावी माना जा सकता है

दूध



दूध भी चेहरे की झाइयां हटाने का तरीका है। एक कटोरी में दूध लेकर उसे रूई की मदद से चेहरे पर लगाने से झाइयों को कम किया जा सकता है। दूध चेहरे को हाइड्रेटेड करता है। दूध, मलाई या दूध पाउडर का इस्तेमाल करने से चेहरे में चमक बनी रहती है और यह त्वचा को काले धब्बों व झाई से बचने का काम कर सकता है। दरअसल, दूध चेहरे में मौजूद दाग को ब्लीच करके त्वचा को फायदा पहुंचाता है
आलू




आलू को भी झाइयां हटाने का उपाय माना जाता है। कहा जाता है कि आलू का पानी चेहरे पर गर्मियों की वजह से होने वाले फ्रेकल्स को कम कर सकता है। चेहरे पर सीधे आलू घीसकर या आलू घीसकर उसके जूस को लगाया जा सकता है । दरअसल, आलू में विटामिन-सी होता है । यह विटामिन चेहरे पर एंटी-पिगमेंटेशन की तरह काम करता है, जिस वजह से स्किन पिगमेंटेशन यानी मेलानिन की मात्रा कम होती है। इसके परिणाम स्वरूप चेहरे की झाइयां और दाग-धब्बों साफ हो सकते हैं


चंदन का तेल



चंदन के तेल में अल्फा-सैंटालोल होता है, जो मेलानिन की अधिकता होने से रोकता है। इसी वजह से माना जाता है कि चंदन का तेल दाग-धब्बे दूर करने के साथ ही झाइयों को कम करने में भी मदद कर सकता है। शोध में कहा गया है कि अल्ट्रावॉयलेट रेज और एजिंग से जुड़ी झाइयों या पिगमेंटेशन पर चंदन का तेल असरदार हो सकता है । चंदन के तेल को किसी अन्य तेल के साथ मिलाकर कुछ देर चेहरे की मालिश कर सकते हैं, इससे झाइयां कुछ हद तक कम हो सकती हैं।


झाइयां हटाने का उपाय जानने के बाद लेख में आगे जानिए, झाइयां का इलाज किस तरह से किया जा सकता है।
पिगमेंटेशन /झाइयां का इलाज
झाइयों का इलाज इसके कारण पर निर्भर करता है, जो डॉक्टर सबसे बेहतर तरीके से व्यक्ति की जांच के बाद बता सकते हैं। यहां नीचे हम सामान्य तौर पर पिगमेंटेशन का इलाज किस तरह किया जा सकता है, वो बता रहे हैं।

क्रीम – डॉक्टर फ्रेकल्स व झाइयों को कम करने और नई झाइयों को पनपने से रोकने के लिए स्किन क्रीम का इस्तेमाल करने की सलाह दे सकते हैं।
लेजर ट्रीटमेंट – झाइयों का इलाज करने के लिए लेजर ट्रीटमेंट का भी सहारा लिया जाता है। इस इलाज के दौरान डॉक्टर लेजर की मदद से इसका उपचार करते हैं ।

पील ट्रीटमेंट (Peel Treatment) – पिगमेंटेशन से छुटकारा पाने के लिए डॉक्टर पील ट्रीटमेंट की भी सलाह दे सकते हैं। यह झाइयां हटाने का तरीका का इस्तेमाल करते समय दो तरह के केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है ।

पिगमेंटेशन कम करने के लिए आहार
जैसा कि हर कोई जानता है कि स्वस्थ रहने के लिए पौष्टिक आहार काफी जरूरी होता है। यही बात चेहरे के स्वास्थ्य पर भी लागू होती है। जितना पौष्टिक आहार का सेवन किया जाएगा, त्वचा उतनी ही स्वस्थ व दमकती बनी रहेगी। इसी वजह से हम नीचे पिगमेंटेशन से छुटकारा व इन्हें कम करने के लिए कुछ जरूरी खाद्य व पेय पदार्थों के बारे में बता रहे हैं

  • सोयाबीन
  • ग्रीन टी
  • हल्दी
  • पपीता
  • गाजर
  • कद्दू
  • शकरकंद
  • आम
  • आलू
  • विटामिन-सी युक्त खाद्य पदार्थ

पिगमेंटेशन क्रीम कैसे बनाए

यह क्रीम पिगमेंटेशन और डार्क स्पोर्ट भी काम करे गई चलयेह देकते है अपने क्या Ingredients इंग्रेडिएंट्स लिए है इसे बनाने क लिए :

Ingredients /इंग्रेडिएंट्स






  • लाल मसूर / लाल मसूर का पाउडर (गुलाब जल में भिगोया हुआ ... यदि आप लाल मसूर की दाल को रात भर भिगो दें / यदि आप पाउडर लेते हैं तो 2-3 घंटे भिगो दें।)
  • 2 बड़ा चम्मच ग्लिसरीन
  • ई कैप्सूल (3-4 कैप्सूल)
  • 2 बड़ा चम्मच एलोवेरा जेल




सबसे पहले जो लाल मसूर की दाल को रात भर भिगो दी थी उसको ग्राइंड कर ले ,फिर छान ले और अगर पाउडर है तो बी छान ले,





जो हमने ग्राइंड पेस्ट बांया हैं उसमे २ बड़ा चम्मच ग्लिसरीन मिला ले फिर मिक्स कर दे फिर विटामिन इ (vitamin E capsule )दाल दे और 2 बड़ा चम्मच एलोवेरा जेल




मिला ले अब सबको मिक्स कर लिए जिए
और तब तक मिक्स करते रहे जब तक क्रीमी न बन जाये ,जब यह क्रीमी हो जाये तो उसे एयर टाइट कंटेनर मैं स्टोर कर ले ,
आप इस क्रीम को 10 -15 दिन इस को स्टोर कर सकते है ,

इस क्रीम को यूज़ कैसे करे
इस क्रीम को नाईट में आफ्टर टोनर उसे करना है थोड़ा सा ले कर फेस नैक पर अप्लाई करना है 10 -15 सेक् क लिए फिर मसाज करे फिर मॉर्निंग मैं पानी के साथ वाश कर दे
बस्ट रिजल्ट क लिए 1महीने क लिए तरय करे बेस्ट रिजल्ट आएगा,



  • चेहरे को बार-बार न छुएं। त्वचा पर हाथ लगाने से पहले अपने हाथों को अच्छे से साफ जरूर करें।
  • धूप में जाने से बचें।
  • ऊपर लेख में बताए गए झाइयों को कम करने वाले खाद्य पदार्थ व पेय को अपने आहार में शामिल करें।
  • खूब पानी पिएं।
  • चेहरे पर पिंपल होने पर उस पर बार-बार हाथ लगाने से बचें।
  • अच्छी कंपनी की एसपीएफ यानी सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाव करने वाली क्रीम लगाएं, जिससे चेहरा सूर्य की हानिकारक किरणों से बचा रहे।
meandmomcorner




































Post a comment

0 Comments